पेट दर्द का देसी उपचार – पेट दर्द का अचूक उपाय – पेट खराब के उपाय

पेट दर्द का देसी उपचार – पेट दर्द का अचूक उपाय – पेट खराब के उपाय Stomach pain home remedy in hindi खाने या पीने के बाद समय-समय पर हर किसी को पेट खराब और अपच का अनुभव होता है। स्थिति आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होती है, और घरेलू उपचार का उपयोग करके लक्षणों का इलाज करना अक्सर संभव होता है।

आज की पोस्ट में  आपको पेट दर्द या पेट दर्द के लिए 19 सुरक्षित और प्राकृतिक घरेलू उपचार देने वाले जिससे आप की पेट की समस्या दूर होगी।

पेट दर्द का देसी उपचार
पेट दर्द का देसी उपचार

Table of Contents

 पेट खराब के उपाय – Stomach pain home remedy in hindi

पेट दर्द दुनिया की सबसे आम समस्याओं में से एक है। पेट दर्द किसी को भी प्रभावित कर सकता है चाहे वह पुरुष हो या महिला। पेट में दर्द या पेट दर्द एक ऐसी समस्या है जो लगभग हर व्यक्ति को चिंतित करती है और जीवन के किसी भी चरण में प्रभावित कर सकती है।

और कमर और छाती के बीच मौजूद किसी भी क्षेत्र में दर्द की विशेषता है। पेट दर्द हल्के से लेकर गंभीर तक होता है। पेट दर्द कई कारणों से हो सकता है और यह पुराना या रुक-रुक कर हो सकता है। पुराना पेट दर्द या पुराना पेट दर्द या तो स्थिर हो सकता है या समय के साथ आ और जा सकता है, जो आमतौर पर पेट की अन्य समस्याओं के परिणामस्वरूप होता है।

आंतरायिक पेट दर्द कभी-कभी शायद पेट की हल्की समस्याओं जैसे गैस, पेट में जलन और अपच के कारण होता है। हालांकि, यह शरीर के लिए अनुपयुक्त भोजन का एक साइड इफेक्ट भी हो सकता है। पेट दर्द या पेट दर्द से पीड़ित मरीजों को अक्सर उल्टी, भूख न लगना, खून के साथ पेचिश, पेट में तकलीफ, पेशाब और सीने में एसिडिटी, पेट में जलन जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

पेट दर्द को रोकने में मदद करने वाले सुरक्षा उपायों में रात के समय मिठाई, बीन्स, आलू, दही और क्रीम से परहेज करना, हल्का और आसानी से पचने योग्य आहार अपनाना, तले और मसालेदार भोजन से परहेज करना, भोजन के तुरंत बाद किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि करने से बचना शामिल है। और उचित आराम कर रहे हैं। मन को शांत रखने के लिए चिंता, भय, मानसिक तनाव, क्रोध, लोभ और चिंता से भी बचना चाहिए।

पेट दर्द का देसी उपचार बेकिंग सोडा से – Stomach pain home remedy in hindi

बेकिंग सोडा को सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट, सोडा के बाइकार्बोनेट और सोडियम बाइकार्बोनेट के रूप में भी जाना जाता है। बेकिंग सोडा में मौजूद एंटासिड गुण पेट में जलन और पेट दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है और इसे एक प्रभावी प्राकृतिक घरेलू उपचार बनाता है।

बेकिंग सोडा से प्राकृतिक एंटासिड बनाने के लिए आधा कप पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं। हालाँकि, बेकिंग सोडा में सोडियम भी होता है, इसलिए जो लोग कम सोडियम वाले आहार पर हैं या उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं, उन्हें बेकिंग सोडा का उपयोग करते समय सावधान रहना चाहिए।

पेट दर्द का देसी उपचार करने के लिए गर्म पानी की बोतल का उपयोग

खाना खाने के बाद गर्म पानी की बोतल पेट पर लगाने से पाचन तंत्र के माध्यम से रक्त संचार बढ़ता है। यह भोजन को पाचन तंत्र में रहने के लिए अवशेषों को रोकने के लिए तेजी से पारित करने में मदद करता है और इसलिए पेट या पेट के मुद्दों को स्वाभाविक रूप से कम करता है।

पेट दर्द का देसी उपचार दलिया पेट दर्द से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है

ओटमील भी पेट दर्द या पेट दर्द से छुटकारा पाने का एक बहुत ही कारगर घरेलू उपाय है। दलिया में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर होते हैं जो वास्तव में कब्ज के इलाज में सहायक होते हैं।

इसके अलावा दलिया कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखने, कैंसर को रोकने, वजन घटाने और रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में भी बहुत फायदेमंद है। ओटमील भी एक प्रकार का हल्का भोजन है, जो पेट खराब होने पर आसानी से मिल जाता है।

पेट दर्द का देसी उपचार सेब

सेब पेट दर्द या पेट दर्द के इलाज में भी बहुत मददगार घरेलू उपचार है। सेब आहार फाइबर का एक बहुत अच्छा पूरक है जो न केवल पेट दर्द से राहत देता है बल्कि पाचन तंत्र को भी ठीक रखता है। पहले से ही पीड़ित होने पर सेब का सेवन पेट दर्द को बढ़ने से भी रोकता है।

पेट दर्द का देसी उपचार केला

केला भी एक तरह का ब्लैंड फूड है, जो पेट के दर्द को प्राकृतिक रूप से रोकने में मददगार होता है। यह मल त्याग में सहायता करता है और कब्ज से छुटकारा दिलाता है, जो पेट दर्द के मुख्य कारणों में से एक है। संक्षेप में कहें तो रोजाना एक केला पेट की समस्याओं को दूर रखता है।

पेट दर्द का देसी उपचार जारड या डिब्बाबंद फल

पेट की समस्याओं को दूर करने के लिए जारड या डिब्बाबंद फल भी एक प्रभावी घरेलू उपचार हो सकते हैं। जर्रेड या डिब्बाबंद फलों में वह गुण होता है जो न केवल शरीर में एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन वापस लाता है बल्कि इसे तेजी से ठीक होने में भी मदद करता है।

खुबानी, नाशपाती और आड़ू जैसे डिब्बाबंद या डिब्बाबंद फल खाने से भी पेट में ऐंठन से राहत मिल सकती है क्योंकि ये आसानी से पचने योग्य होते हैं। साथ ही अनानास से बचना चाहिए क्योंकि इससे एसिडिटी हो सकती है और पेट में जलन हो सकती है।

 पेट खराब के उपाय सेब की चटनी

सेब की चटनी का फ्रेंच नाम कॉम्पोट डी पोम्स है। सेब की चटनी को आहार में शामिल करने से भी पेट की ख़राबी से प्राकृतिक रूप से राहत मिलती है क्योंकि यह पाचन तंत्र पर बहुत हल्का और हल्का होता है।

सेब की चटनी को दालचीनी के संयोजन के साथ लेना एक बहुत ही प्रभावी घरेलू उपचार हो सकता है। इस तैयारी के एक छोटे कप का सेवन पेट की ख़राबी से राहत दिलाने और साथ ही अच्छा पोषण प्रदान करने में अद्भुत काम करता है।

 पेट खराब के उपाय दालचीनी

दालचीनी भी बहुत ही प्राकृतिक और असरदार मसाला है जो पेट दर्द को दूर रखने में मदद करती है। दालचीनी में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। दालचीनी पाचन तंत्र को उत्तेजित रखती है और इसे ठीक से काम करने में मदद करती है।

दालचीनी को कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है जैसे खाने पर छिड़क कर, चाय में डालकर और सीधे भी लिया जा सकता है।

 पेट खराब के उपाय अदरक

अदरक, वैज्ञानिक नाम जिंगिबर ऑफिसिनेल, एक और आम मसाला है जो पेट दर्द या पेट दर्द के इलाज में मदद करता है। अदरक मोशन सिकनेस और गैस को ठीक करके पेट की समस्याओं में मदद करता है।

अदरक न केवल पाचन तंत्र की पाचन क्षमता में सुधार करता है बल्कि शरीर को सभी आवश्यक पोषक तत्वों को लेने के लिए प्रभावी ढंग से प्रदर्शन करने में भी मदद करता है।

अदरक में एक एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होता है जो आंतों और पेट में सूजन को कम करने में मदद करता है और इसे पेट दर्द के लिए एक उपयोगी घरेलू उपचार बनाता है। अदरक पाचन में सहायक होने के कारण भोजन को पाचन तंत्र के माध्यम से सुचारू रूप से पारित करने में मदद करता है।

अदरक की चाय बनाने के लिए छिले हुए अदरक को कद्दूकस कर लें और इसमें आधा चम्मच एक कप गर्म पानी में मिलाएं। लगभग तीन मिनट तक रखें फिर अदरक को छान लें और चाय का सेवन करें।

 पेट खराब के उपाय पुदीना

पुदीना पेट दर्द और इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम में भी काफी असरदार होता है। पुदीना भोजन को आंत से तेजी से गुजरने देता है जो न केवल पाचन तंत्र को ठीक रखता है बल्कि पेट की ऐंठन को भी रोकता है।

पेपरमिंट ऑयल का उपयोग गैस-एक्स जैसी कई ओवर-द-काउंटर दवाओं और चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम के लिए कैप्सूल में भी किया जाता है।

पेट दर्द में पुदीने की ताजी चाय का सेवन बहुत कारगर होता है। ताज़ी पुदीने की चाय बनाने के लिए एक कप गर्म पानी में ताज़े पुदीने के कुछ झरने मिलाएँ।

पेट दर्द का अचूक उपाय कैमोमाइल चाय (बबूने के फूल की चाय)

कैमोमाइल चाय भी पेट की समस्याओं जैसे अपच, पेट में ऐंठन, मासिक धर्म में दर्द और मांसपेशियों में ऐंठन के इलाज के लिए एक प्राकृतिक और प्रभावी घरेलू उपचार है। कैमोमाइल में कई रोगाणुरोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो पेट की समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करते हैं।

कैमोमाइल चाय का सेवन पेट दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद करता है और पेट को आराम देता है। हालांकि, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि रैगवीड से एलर्जी वाले लोगों को कैमोमाइल का सेवन नहीं करना चाहिए।

पेट दर्द का अचूक उपाय थाइम (अजवायन के फूल)

थाइम, वैज्ञानिक नाम थाइमस वल्गेरिस एल, पेट की समस्याओं को प्राकृतिक रूप से ठीक करने में भी बहुत मददगार है। अजवायन के सेवन से न केवल पेट में ऐंठन और गैस ठीक होती है बल्कि पाचन तंत्र के कार्य को बेहतर बनाने में भी मदद मिलती है।

अजवायन के तेल में एक एंटीस्पास्मोडिक और कार्मिनेटिव गुण होता है जो गैस को नीचे की दिशा में धकेलने में मदद करता है।

अजवायन की चाय बनाने के लिए एक चम्मच सूखे अजवायन के पत्तों को गर्म पानी में मिलाएं और इसे लगभग 10 मिनट के लिए ढक कर छोड़ दें, फिर अजवायन की पत्तियों को छान लें और चाय का सेवन करें। यह पेट की समस्याओं से राहत दिलाने में मदद करता है।

पेट दर्द का अचूक उपाय सौंफ

पेट या पेट में ऐंठन और गैस के लिए भी सौंफ एक अच्छा घरेलू उपाय है। सौंफ से बनी चाय का दिन में तीन बार सेवन करने से काफी फायदा होता है। सौंफ में एनेथोल, एसपारटिक एसिड होता है।

एनेथोल यानी वाष्पशील तेल जो पाचन और गैस्ट्रिक रस के स्राव को उत्तेजित करने में मदद करता है, पेट और आंतों की सूजन को कम करता है जबकि एसपारटिक एसिड एंटी-फ्लैटुलेंट के रूप में काम करता है और प्राकृतिक तरीके से पेट से अतिरिक्त गैस को दूर करने में मदद करता है।

सौंफ भी बहुत अच्छे रेचक एजेंट होते हैं और इसमें फाइबर होता है जो न केवल आंतों को साफ करता है बल्कि आंतों के अच्छे क्रमाकुंचन को बनाए रखने में भी मदद करता है।

सौंफ में मौजूद हिस्टिडीन जैसे जीवाणुरोधी और कीटाणुनाशक गुण और अमीनो एसिड भी पाचन तंत्र की कार्यक्षमता में सुधार करने में मदद करते हैं और साथ ही अपच के कारण होने वाले दस्त का इलाज करते हैं।

पेट दर्द का अचूक उपाय गाजर के बीज

गाजर के बीज, वैज्ञानिक नाम कैरम कार्वी, आहार फाइबर के बहुत अच्छे पूरक हैं। अजवायन के बीज को चाय के रूप में या सिर्फ चबाकर खाने से गैस और अपच से राहत मिलती है।

एक चम्मच अजवायन को गर्म पानी में मिलाकर जीरा चाय तैयार की जा सकती है। इसे लगभग पांच से दस मिनट के लिए सेट होने दें, फिर बीजों को छान लें और खाली पेट इसका सेवन करें।

पेट दर्द का अचूक उपाय कई प्रकार की चाय 

कई प्रकार की चाय पाचन तंत्र पर हल्की होती है और पेट की ख़राबी से छुटकारा पाने के लिए भी बहुत प्रभावी होती है। पेट दर्द में दालचीनी, काली चाय, नींबू बाम, पुदीना, ग्रीन टी, लैवेंडर और अजवायन का सेवन करने से लाभ होता है।

अदरक, पुदीना और कैमोमाइल से बनी चाय में मौजूद प्लांट स्टेरोल्स भी पेट के दर्द को प्राकृतिक रूप से कम करने में मदद करते हैं।

हर्बल या सीड टी तैयार करने के लिए, एक कप गर्म पानी में आधा से एक चम्मच जड़ी-बूटियों या बीजों को मिलाएं और इसे लगभग पांच से दस मिनट तक बैठने दें और सेवन करें।

पेट दर्द का देसी उपचार हाइड्रेटेड रहना पेट दर्द को रोकने में मदद कर सकता है

पेट की समस्याओं को दूर रखने के लिए हाइड्रेटेड रहना भी बहुत जरूरी है क्योंकि डिहाइड्रेशन पेट खराब होने का एक प्रमुख कारण है। आमतौर पर गैस्ट्रोएंटेराइटिस या पेट के वायरस से पीड़ित मरीज कुछ भी पीने या खाने से बचते हैं .

क्योंकि इससे उन्हें अपने सिस्टम में कुछ भी ले जाना मुश्किल हो जाता है। वहीं, खाली पेट पेट में मौजूद एसिड की अधिकता की ओर ले जाता है। इसलिए किसी भी तरह से खुद को तरल पदार्थों का सेवन करने के लिए मजबूर करना चाहिए क्योंकि निर्जलीकरण के परिणामस्वरूप पेट की परेशानी बढ़ जाती है और उल्टी बढ़ जाती है।

एक बार में कम मात्रा में लेने से पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन किया जा सकता है। हर 15 मिनट में एक बड़ा चम्मच तरल लेकर इसकी शुरुआत करें। जैसे ही रोगी इसके साथ सहज महसूस करे, मात्रा को दो चम्मच और आगे बढ़ा दें।

हालांकि तरल पदार्थ लेना प्यास को संतुष्ट करने के लिए पर्याप्त नहीं हो सकता है, लेकिन यह शरीर को हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है, पेट की ख़राबी को कम करता है, और रिकवरी अवधि को तेज करने में मदद करता है।

औसतन छह से आठ गिलास पानी पीने से आंतों के समुचित कार्य को बनाए रखने में मदद मिलती है। यह वायरस और जहरीले कणों को बाहर निकालने में भी मदद करता है। नीचे कुछ तरल पदार्थ दिए गए हैं जो शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं।

  • कैफीन मुक्त चाय।
  • स्पोर्ट्स ड्रिंक।
  • सेब और क्रैनबेरी जैसे फलों के रस।
  • सोडा।
  • जेलाटीन।
  • साफ शोरबा।

पेट दर्द का देसी उपचार कार्बोनेटेड शीतल पेय

कार्बोनेटेड पेय न केवल गैस के बुलबुले से छुटकारा पाने में मदद करते हैं बल्कि पेट दर्द को भी खत्म करते हैं। कैफीन मुक्त या कार्बोनेटेड पेय, विशेष रूप से कोला, अदरक, और नींबू-नींबू सोडा का सेवन करने से डकार आती है जो पेट से गैस को बाहर निकालने में मदद करती है। अधिक खाने के कारण पेट खराब होने की स्थिति में यह अच्छा काम करता है।

पेट दर्द का देसी उपचार हीट

पेट दर्द को ठीक करने के लिए हीट एप्लीकेशन भी एक बहुत ही कारगर घरेलू उपाय है। नम गर्म तौलिये और गर्म चावल के कंप्रेस पेट दर्द में मददगार हो सकते हैं। एक कप चावल को एक जुर्राब में 30 से 60 सेकंड के लिए माइक्रोवेव में पकाकर गर्म चावल के कंप्रेस तैयार किए जा सकते हैं।

इस चावल को एक बड़े प्लास्टिक बैग में डालकर कॉटन के तौलिये या टी-शर्ट में लपेट दें। इसे पेट पर लगाने से पेट दर्द से राहत मिलती है। गर्मी का उपयोग करने का एक और तरीका है।

एक बर्तन में नमक गर्म करना और इसे ट्यूब सॉक में डालना। इस जुर्राब को पेट पर लगाने से न केवल आराम मिलता है, बल्कि परिसंचरण बढ़ाने और पेट में रक्त के प्रवाह में सुधार करने में भी मदद मिलती है। यह पाचन में मदद करता है और दर्दनाक पेट की ऐंठन को कम करता है।

ये भी पढ़े


  1. मासिक धर्म किस उम्र में बंद होता है – Period Kitne Din Ka Hota Hai
  2. Sperm nikalne ke side effects – Viry nikalne ke nuksan
  3. आँखों की कमजोरी के लक्षण – आँखों के रोग की संपूर्ण जानकारी
  4. Yoga Ke Fayde – Yoga Karne Ke Fayde – योगा के फायदे
  5. चेहरे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है – face ke liye best cream in hindi
  6. Gaal Fulane Ki dawa – Pichke Gaal ke liye tablet – पिचके गाल भरने के उपाय
  7. नीबू से हानि – lemon side effects – नींबू के नुकसान
  8. Nimbu Ke Fayde – lemon in hindi – नींबू के फ़ायदे
  9. बुखार का घरेलू उपचार सर्दी जुकाम – symptoms of viral fever in hindi
  10. रुका हुआ पीरियड लाने की दवा -औरत की हर समस्या का समाधान
  11. Height Badhane Ke Liye Exercise -लंबाई बढ़ाने के BEST 10 एक्सरसाइज – Height Badhane Ki Exercise
  12. How to remove dark circles permanently चेहरे के काले घेरे हटाने के 10 उपाय
  13. Pregnancy se bachne ke upay प्रेग्नेंसी रोकने के घरेलू तरीके
  14. Period Aane ki medicine name पीरियड जल्दी आने की टेबलेट और कारगर टिप्स
  15. Nutricharge Women Tablet नारी के स्वास्थ्य के लिए आदर्श


दोस्तों आपको पेट दर्द का देसी उपचार – पेट दर्द का अचूक उपाय – पेट खराब के उपाय ये पोस्ट कैसी लगी। हमें comment करके अपने विचार दे। हमें बहुत ख़ुशी होगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें। आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है।

हमारी id:radarhindi.net@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे। हमें facebook page पर फॉलो कर ले और Right Side में जो Bell Show हो रही है उसे Subscribe कर ले ताकि आप को समय समय पर Update मिलता रहे।

Thanks For Reading

Leave a Comment