Body Wash Vs Soap साबुन Vs बॉडी वाश BEST जानकारी

Body Wash Vs Soap साबुन Vs बॉडी वाश BEST जानकारी Body Wash Vs Soap Bars in Hindi साबुन vs बॉडी वाश इन दोनों में से कौन सी है हमारे लिए बेहतर आज इसी बात पर हम आज की पोस्ट में हम आपको बातयेंगे। 

आज से 10 साल पहले बॉडी वॉश जैसी चीज शायद ही किसी के दिमाग में हुआ करती थी हर कोई साबुन का इस्तेमाल करता था और इसी से खुश था पर जैसे-जैसे प्रगति होती चली गई वैज्ञानिकों ने त्वचा के लिए और भी बेहतरीन चीजों का निर्माण करना शुरू किया। 

और तब साबुन से भी एक कदम आगे की चीज बनी जिसका नाम है बॉडी वॉश पर आज भी लोग कंफ्यूज रहते हैं कि आखिर अपनी त्वचा पर और अपने चेहरे पर साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए या फिर बॉडीवाश का आज इस लेख में हम जानेंगे कि आपके लिए क्या बेहतर है।

Body Wash Vs Soap Bars in Hindi

Body Wash Vs Soap – साबुन कैसे बनता है एवं इसमें क्या डाला जाता है

साबुन का इस्तेमाल पिछले 50 सालों से हो रहा है और साबुन में वेजिटेबल ऑयल, Sodium laureth sulfate, Sodium Palmitate, Sodium lauroyl isethionate, Sodium olivate, Sodium cocoate जैसे मुख्य तत्व पाए जाते हैं साबुन का ph लेवल भी ज़्यादा होता है जिसके कारण इसका नेचर क्षारीय होता है।

आपको बता दें कि ये सारे तत्व एक नार्मल साबुन जो मार्केट में मिलते हैं उनमें पाए जाते हैं ऑर्गेनिक साबुन जो काफ़ी महंगे होते हैं उनमें ये केमिकल्स कम होते हैं या तो नहीं होते पर ये साबुन एक आम आदमी के अनुसार काफी महंगे होते हैं।

बॉडी वाश कैसे बनता है और इसमें क्या डाला जाता है :-Body Wash Vs Soap Bars in Hindi

बॉडी वॉश जिसे शावर जेल भी कहा जाता है उसका चलन पिछले कुछ सालों से ही हो रहा है और बड़े लोग जिनकी इनकम ज्यादा है वह Body Wash का ही इस्तेमाल करते हैं हालांकि एक नॉरमल बॉडी वॉश भी केमिकल युक्त ही होते हैं। 

और उसमें Sodium laureth sulfate, parabens, ethanolamines जैसे केमिकल्स पाए जाते हैं पर फिर भी बॉडी वॉश त्वचा में इस्तेमाल करने के लिए Soap के मुकाबले बेहतर होते हैं अब इस लेख में आगे हम आपको बताएंगे कि क्यों बॉडी वॉश नहाने वाले साबुन से बेहतर है।

Body Wash Vs Soap – साबुन vs बॉडी वाश 

1) स्किन केयर  :- अगर बात स्किन केयर की हो तो हमेशा बॉडी वाश साबुन से दो कदम आगे है । वह इसलिए क्योंकि साबुन में केमिकल्स की मात्रा बॉडी वॉश के मुकाबले बहुत ज्यादा होती है। वहीं साबुन के इस्तेमाल से त्वचा रूखी होती है पर बॉडी वॉश में साबुन के मुकाबले कम केमिकल्स होते हैं। 

और इसमें मॉइश्चराइजिंग तत्व जैसे कि ग्लिसरीन, एलोवेरा भी डाले जाते हैं जो त्वचा के मॉइश्चर को जाने नहीं देती। एक आम साबुन का ph लेवल 9 से 10 के बीच होता है (त्वचा का ph 5 से 6 होता हैं) वहीं बॉडी वॉश का पीएच लेवल 5 से 6 के बीच होता है बॉडीवाश ph के अनुसार त्वचा के लिए सबसे बेस्ट माना जाता है और इस वजह से भी स्किन केयर के मामले में बॉडी वाश साबुन से बेहतर है।

2) हाइजीन :- साबुन का इस्तेमाल हमेशा से हाइजीन पर सवाल खड़ा करता आया है । एक परिवार में जब एक ही साबुन का इस्तेमाल हर कोई करता है तो उस इस्तेमाल किए गए साबुन में बैक्टीरिया और वायरस रुके रह जाते हैं और फिर उसी साबुन का इस्तेमाल हर कोई करता है।

हाइजीन के लिहाज से यह एक हेल्थी प्रोसेस नहीं है। वही बात करें अगर बॉडी वॉश की तो बॉडीवॉश की हर एक बूंद अनछुई होती है और उसमें बैक्टीरिया एवं वायरस मौजूद नहीं होते इसलिए हाइजीन के लिहाज से बॉडी वॉश ज्यादा बेहतर है ।

3) इस्तेमाल :- इस्तेमाल करने में साबुन काफी ज्यादा बेहतर माना जाता है बस साबुन का पैकेट खोलो साबुन को अपने हाथों में लेकर गीला करो और इसे अपने शरीर पर रगड़ कर अपने शरीर को साफ कर लो, हो गया पर वहीं बात करें , अगर बॉडी वॉश की तो कई बार लो बॉडी वॉश की जितनी मात्रा लेनी चाहिए। 

उससे अधिक मात्रा में लेकर इसे बर्बाद भी करते हैं वहीं हाथ में लेकर शरीर के अलग-अलग जगहों पर इसे लगाने में समय भी ज्यादा बर्बाद होता है इसलिए इस्तेमाल के लिहाज से साबुन ज्यादा बेहतर है ।

4) ट्रैवलिंग :- जब आप ट्रैवलिंग कर रहे होते हैं तो उस समय साबुन से बेहतर बॉडी वॉश माना जा सकता है ऐसा इसलिए क्योंकि जब आप साबुन का इस्तेमाल कर लेते हैं तो वह गीला हो जाता है और उस गीले साबुन को कहीं पर लेकर जाना काफी अजीब लगता है। वहीं बात करें अगर बॉडी वॉश की तो बॉडी वाश एक लिक्विड के रूप में डब्बे में बंद होता है और बॉडी वाश का जितनी बार चाहे इस्तेमाल हो सकता है और इसे जहां चाहे वहां आसानी ले जाया जा सकता है।

Body Wash Vs Soap Bars in Hindi

5) कॉस्ट इफेक्टिव :- कौन सा प्रोडक्ट सस्ता है या कॉस्ट इफेक्टिव है यह प्रोडक्ट की क्वालिटी पर और उसकी कीमत पर निर्भर करता है पर अगर एक आम साबुन की बात करें तो वह काफी सस्ता होता है और 10 से 20 रुपये में मिल जाता है पर एक बार अगर वह गीला हो जाए तो धीरे-धीरे वह छोटा हो जाता है। 

और जल्दी खत्म भी हो जाता है वहीं अगर बात करें बॉडी वाश कि तो एक नार्मल बॉडी वाश के एक डब्बे की कीमत 100 से 150 रुपये होती है लोगों को लगता है कि साबुन ज्यादा सस्ता हुआ पर आपको बता दें कि एक बार खरीदा हुआ बॉडी वॉश 15 से 20 दिन आराम से चल जाता है वही एक साबुन 5 से 6 दिन में ही खत्म हो जाता है इसलिए आगे से बॉडी वॉश ज्यादा कॉस्ट इफेक्टिव है।

6) रखने के लिए जगह :- साबुन को रखने के लिए एक छोटी सी जगह की जरूरत पड़ती है वहीं एक बॉडी वॉश को रखने के लिए आपको एक बड़े डब्बे जितनी जगह चाहिए कहीं पर ले जाने आने में बॉडी वॉश कुछ ज्यादा जगह चाहिए वहीं एक छोटी सी साबुन की टिकिया कहीं पर भी फिट हो सकती है इस मामले में साबुन जीत जाता है। 

7) लाइफ स्पैन :- एक साबुन का लाइफ स्पैन काफी कम होता है जैसे ही साबुन पानी के स्पर्श में आता है वह गलना शुरू हो जाता है और धीरे-धीरे छोटा हो जाता है। ज्यादातर मामलों में जब साबुन छोटा हो जाता है तो लोग उसका इस्तेमाल करना छोड़ देते हैं और उसे ऐसे ही फेंक देते हैं पर बॉडी वॉश का इस्तेमाल उसकी आखरी 1 बूँद तक किया जाता है इस हिसाब से बॉडी वाश का लाइफ स्पैन ज्यादा है। 

8) सुगंध :- साबुन के इस्तेमाल से शरीर से सुगंध तो आती है पर इसकी अवधि ज्यादा लंबी नहीं होती और यह सुगंध 1 से 2 घंटे में गायब हो जाती है वहीं अगर आप एक अच्छे बॉडी वॉश से स्नान लेते हैं तो इसकी सुगंध 5 से 6 घंटे तक रहती है और आप ज्यादा समय तक फ्रेश महसूस करते हैं वही बॉडी वॉश के इस्तेमाल से आपको पसीना भी काम आता है।

 Soap vs body wash – फैसले की घड़ी

Soap और Face Wash दोनों ही अपने-अपने मामलों में काफी बेहतर हैसाबुन के कुछ अपने फायदे हैं और कुछ अपने नुकसान है वहीं Body Wash के भी कुछ अपने फायदे हैं तो कुछ अपने नुकसान हैं।अब आपको यह निर्णय लेना है कि आपको किस प्रोडक्ट का इस्तेमाल करना है।

अगर आप अपनी स्किन की देखभाल करना चाहते हैं और आपके लिए क़्वालिटी ज्यादा मायने रखती है तो आपको Body Wash का इस्तेमाल करना चाहिए मैं भी यही कहना चाहूंगा कि आप साबुन को छोड़कर Body Was  का इस्तेमाल करना शुरू करें। आपकी त्वचा ज्यादा बेहतर हो जाएगी और बॉडी वॉश से आपकी त्वचा को ना के बराबर नुकसान होंगे।

कुछ जरूरी बातें

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि बॉडी वॉश साबुन से ज्यादा बेहतर है इसलिए आपको नहाने के लिए बॉडी वॉश का इस्तेमाल ही करना चाहिए अगर आपको अपनी त्वचा की फिक्र है तो हमेशा एक अच्छी क्वालिटी का बॉडी वॉश ही खरीदें जिसमें केमिकल्स की मात्रा कम हो जब भी आप किसी कंपनी का बॉडी वॉश खरीदें। 

तो आप उसके इनग्रेडिएंट्स में जरूर पढ़ें कि उसमें Parabens और Sodium laureth sulfate ना हो क्योंकि यह केमिकल आपकी त्वचा के लिए ठीक नहीं होते कोशिश करें कि आप एक ऑर्गेनिक बॉडी वॉश का इस्तेमाल करें।

Body Wash का इस्तेमाल आपको अपने पूरे शरीर पर और अपने चेहरे पर करना है पर अपने बालों पर बिल्कुल नहीं करना है आपको अपने बालों में हमेशा शैंपू का ही इस्तेमाल करना चाहिए और शैंपू के बाद कंडीशनर अवश्य लगाना चाहिए ।

Raj Deep

Website :- https://healthkenuskhe.com/

Body Wash Vs Soap in Hindi ” यह लेख हमें भेजा है Raj Deep जी ने। radarhindi.net में ” साबुन Vs बॉडी वाश ” Share करने के लिए राज दीप जी का बहुत-बहुत धन्यवाद। हम राज दीप जी को ब्लॉग्गिंग फील्ड में बेहतर भविष्य के लिए शुभकामनायें देते है। और उम्मीद करते है। की उनकी अन्य रचनाएँ आगे भी इस ब्लॉग पर प्रकाशित होंगी।

हेल्थ से संबंधित जानकारी के लिए राज दीप जी की https://healthkenuskhe.com/ साइट है जिस पर ये बेहतरीन जानकारी देते है।

यह भी पढ़े 

  1. Nutricharge Women Tablet नारी के स्वास्थ्य के लिए आदर्श
  2. Period Aane ki medicine name कारगर Best 30 टिप्स पीरियड लाने के
  3. Ibugesic Plus Syrup Dosage tablet की पूरी जानकारी
  4. Cetirizine Tablet Uses in Hindi सिट्राजिन टेबलेट की पूरी जानकारी
  5. Pachan Shakti Badhane Ki Medicine पाचन शक्ति की दवा
  6. Combiflam Tablet In Hindi कोम्बिफ्लैम टेबलेट साइड इफेक्ट्स,उपयोग,बनावट
  7. Bifilac Capsule in Hindi उपयोग,फायदे,साइड इफेक्ट् बिफिलैक की BEST जानकारी

दोस्तों आपको Body Wash Vs Soap साबुन Vs बॉडी वाश BEST जानकारी  ये पोस्ट कैसी लगी। नीचे Comment box में Comment करके अपने विचार हमसे अवश्य साझा करें। और आपका 1 कमेंट हमें लिखने को  प्रोत्साहित करता और हमारा जोश बढ़ाता है। हमें बहुत ख़ुशी होगी।

इस Post को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें।अगर आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है। हमारी Email id: radarhindi.net@gmail.com है।

Thanks For Reading

1 thought on “Body Wash Vs Soap साबुन Vs बॉडी वाश BEST जानकारी”

  1. Most people I talk to have no idea that fast hair growth shampoos (of course with no sulfates, no parabens or DEA) exist. Folks can now experience longer hair and experience more alternatives. Undoubtedly worth searching.

    When you’re thinking about alopecia, hair damage, avoiding hair disorders, fast hair growth, hair and scalp health at large, very similar rules actualize.

    As a rule of thumb, you will want to steer clear of hair treatments and products that contain chemicals like parabens, DEA or sulfates.

    What is good for your hair is good for your skin all the same.

    Clearly the content on this page is so useful for various reasons. It avoids the usual traps and traps so many fall into- purchasing horrible alternatives. Greatly appreciated!

    Reply

Leave a Comment