Kabir Das in hindi – संत कबीर दास जी के दोहे

 kabir das in hind नमस्कार दोस्तों कैसे है आप उम्मीद है खुश ही होंगे, आज की हमरी पोस्ट  Zindagi Badal Dene Waale Kabir Ji ke Achhe Dohe . तो चलिए दोस्तों लेख़ को शुरू करते है। 

परन्तुं सत्य तो यह है कि आज के भाग-दौड़ भरे जीवन में सब दुखी ही दुखी है। फिर भी हम कामना करते है। आप खुश रहे और  परिवार के साथ अच्छा और सुरक्षित  जीवन व्यतीत करें। खैर दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आएं है। संत कबीर दास जी के दोहे जिन्होंने अपने विचारों से समूचे संसार को वशीभूत (मंत्रमुग्ध ) करके रख दिया।  

Kabir Das in hindi
                                                       Kabir Das in hindi

Kabir Das in hindi – संत कबीर दास जी के दोहे

(1) तिनका कबहुँ न निन्दिये, जो पाँवन तर होय , कबहुँ उडी आँखिन पड़े , तो पीर घनेरी होय। 

भावार्थ  :-

Kabir ji कहते है की एक छोटे से  Tinke की भी कभी निंदा न करो जो तुम्हारे पांवों के निचे दब जाता है। यदि कभी वह तिनका उड़कर  आँख (Eyes) में आ गिरे तो कितनी Jyada Peeda होती है।

(2) धीरे-धीरे रे मना, धीरे सब कुछ होय, माली सींचे सो घड़ा, ऋतु आये फल होय। 

भावार्थ :-

मन में धीरज रखने से सब कुछ होता है। अगर कोई माली किसी पेड़ को सौ घड़े पानी से सींचने लगे तब भी फल तो ऋतू आने पर ही लगेगा।

(3)  पोथी पढ़ि-पढ़ि जग मुआ , पंडित भया न कोय , ढाई आखर प्रेम का , पढ़े सो पंडित होय। 

भावार्थ :- 

Big-Big पुस्तकें (Books) पढ़ कर World में कितने ही लोग मृत्यु के द्वार पहुँच गए। पर सभी विद्वान न हो सके।  कबीर मानते है की यदि कोई प्रेम या Love के Only ढाई अक्षर ही अच्छी तरह पढ़ ले ,मतलब की  Love का Real रूप पहचान ले तो वही सच्चा ज्ञानी है। 

(4) कबीर खड़ा बाजार में, मांगे सबकी खैर, ना काहू से दोस्ती, न काहू से बैर। 

भावार्थ :- 

इस world में आकर कबीर (Kabir) अपने जीवन में बस यही चाहते है की सबका भला हो और संसार में यदि किसी से दोस्ती नहीं ,तो दुश्मनी भी न हो।

(5)  बुरा जो देखण में चला, बुरा न मिलिया कोय, जो दिल खोजा अपना, मुझसे बुरा न कोय। 

भावार्थ :-

जब में इस संसार में बुराई  Research Karne चला तो मुझे कोई बुरा न मिला (Not Found) जब  Mene अपने मन में झाँक कर देखा तो पाया की मुझसे बुरा कोई नहीं है।

Kabir Das in hindi – संत कबीर दास जी के दोहे

(6) कबीर लहरि समंद की, मोती बिखरे आई। 

भावार्थ :-

कबीर कहते है की समुन्द्र की लहर में मोती आकर बिखर गए। बगुला उनका भेद नहीं जानता,परन्तु हंस उन्हें चुन चुन कर खा रहा है इसका  Means यह है की किसी भी Vastu का महत्व जानकार ही जानता है

(7) कहत सुनत सब दिन गए, उरझि न सुरझ्या मन। 

भावार्थ :-

कहते सुनते सब दिन निकल गए, पर यह मन उलझ कर न सुलझ पाया। कबीर जी कहते है की अब भी यह  मन होश में नहीं आता। आज भी इसकी अवस्था पहले दिन जैसी ही है।

(8) निंदक  नियरे राखिए, आँगन कुटी छवाय,बिन पानी साबुन बिनानिर्मल करे सुभाय।

भावार्थ :- 

जो हमारी निंदा करता है ,उसे अधिक से अधिक अपने पास ही रखना चाहिए। क्योंकि वह तो साबुन और पानी की तरह हमारी कमियां बता कर हमारे स्वभाव को साफ़ करता है। मतलब : जैसे साबुन औरपानी किसी भी मैले कपड़े को धो कर साफ़ और स्वच्छ कर देते है वैसे ही हमारी निंदा करने वाले हमारी खामियां बता कर हमारे स्वभाव को अच्छा बना देते है।

(9) दुर्लभ मानुष जन्म है, देह न बारम्बार,तरुवर ज्यों पता झड़े, बहुरि न लागे डार।

भावार्थ :-

इस संसार में मनुष्य का जन्म बड़ी मुश्किल से मिलता है। यह मानव शरीर उसी तरह बार-बार नहीं मिलता जैसे वृक्ष से पत्ते झड़ जाएं तो दोबारा डाल पर नहीं लगते। 

(10) अति का भला न बोलना, Ati की भली न चूप, अति का भला न बरसना, Ati की भली न धूप। 

भावार्थ :-

न तो अधिक बोलना अच्छा है  न ही जरूरत से ज्यादा चुप रहना ठीक। जैसे बहुत अधिक वर्षा भी अच्छी नहीं और बहुत अधिक धूप भी अच्छी नहीं होती। प्रत्येक कार्य सिमा के अंतर्गत होना चाहिए।

ये भी पढ़े


  1. Kabir Das Ke Dohe with Meaning कबीर दास जी के 32 दोहे
  2. Gulzar Quotes in hindi गुलज़ार कोट्स Top 30Gulzar Quotes
  3. Anmol Vachan – अनमोल वचन इन हिंदी 100 अनमोल वचन
  4. Personality Development in hindi – अच्छी पर्सनेलिटी कैसे बनाये
  5. Good Manners For A Successful Life – 70 Habits For Kids Students
  6. एक विचार आपकी जिंदगी बदल सकता है Motivational Story in Hindi

दोस्तों आपको Kabir Das in hindi – संत कबीर दास जी के दोहेये पोस्ट कैसी। लगी हमें comment करके अपने विचार दे। हमें बहुत ख़ुशी होगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें।

आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है। हमारी id:radarhindi.net@gmail.com Right Side में जो Bell Show हो रही है उसे Subscribe कर ले। ताकि आप को समय समय पर Update मिलता रहे।

Thanks For Reading

Leave a Comment