Mahadevi Verma Biography In Hindi – महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय

Mahadevi Verma Biography In Hindi  – महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय  Mahadevi verma ka sahityik parichay भक्तिन महादेवी वर्मा जी के बारे में पूरी जानकारी आज की पोस्ट में हम आपको देंगे। 

Mahadevi Verma Biography In Hindi
Mahadevi Verma Biography In Hindi

Mahadevi Verma Biography In Hindi – महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय

महादेवी वर्मा  का जन्म सन 1960 में उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद नगर के एक प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था उनकी आरंभिक शिक्षा मिशन स्कूल इंदौर में हुई 9 वर्ष की अल्पायु में ही उन्हें विवाह के बंधन में बांध दिया गया था।

किंतु यह बंधन स्थाई न रह सका उन्होंने अपना सारा समय अध्ययन में लगाना प्रारंभ कर दिया और सन 1932 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय से संस्कृत में m.a. की परीक्षा पास की।

उनकी योग्यताओं से प्रभावित होकर उन्हें प्रयाग महिला विद्यापीठ की प्रधानाचार्य के रूप में नियुक्त किया गया। उन्हें छायावादी हिंदी काव्य के चार स्तंभों में से एक माना जाता है उन्हें विभिन्न साहित्यिक पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया।

सन 1956 में भारत सरकार ने उन्हें पदम भूषण अलंकरण से सम्मानित किया। उन्हें 1983 में “यामा” संग्रह के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला और उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान का भारत भारती पुरस्कार मिला।

उन्हें विक्रम विश्वविद्यालय कुमायूं विश्वविद्यालय तथा दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा डी लिट की मानद उपाधि से विभूषित किया गया। 11 दिसंबर 1987 को उनका देहांत हो गया।

महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय  – भक्तिन महादेवी वर्मा जी की प्रमुख रचनाए

महादेवी वर्मा ने कविता,रेखाचित्र,आलोचना आदि अनेक साहित्यिक विधाओं में रचना की है। 

उन्होंने “चांद” और “आधुनिक कवि काव्य माला” का संपादन कार्य भी किया।उनकी प्रमुख रचनाएं हैं-

काव्य संग्रह :- “निहार”, “रशिम”, “नीरजा”, “सांध्यगीत”, “दीपशिखा”, “यामा” आदि।

निबंध संग्रह :- “श्रृंखला की कड़ियां”, “क्षणदा”, “संकल्पिता”, ” भारतीय संस्कृति के सवर”, “आपदा”।

संसमरणं/रेखाचित्र संग्रह :- “अतीत के चलचित्र”, “स्मृति की रेखाएं”, “पथ के साथी”, “मेरा परिवार”।

आलोचना :- “हिंदी का विवेचनात्मक गद्य”, “विभिन्न काव्य संग्रहो की भूमिकाएं”।

महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय  – Mahadevi Verma In Hindi

महादेवी वर्मा कवित्री के रूप में प्रसिद्ध हैं लेकिन गद्य के विकास में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है उन्होंने कहानी संसमरणं, रेखाचित्र, निबंध आदि गद्य विधाओं पर सफलतापूर्वक लेखनी चलाई।

उनके अधिकार संस्मरण एंव रेखाचित्र कहानी कला के समीप दिखाएं पढ़ते हैं उनके संसमरणं के पात्र अत्यंत संजीव के धरातल पर विचरण करते हुए देखे जा सकते हैं।

उनकी गद्य रचनाओं में अनुभूति की प्रबलता के कारण जैसा आनंद आता है।  उनके संस्मरणों के मानवेतर पात्र भी बड़े सहज सजीव बन पड़े हैं उनके गद्य साहित्य की मूल संवेदना करुणा और प्रेम है।

इसलिए उनका गद्य साहित्य काव्य से भिन्न है काव्य में वे प्राय अपने ही सुख-दुख, विरह वियोग आदि की बातें करती रही हैं।

किंतु उन्होंने गद्य साहित्य में समाज के सुख-दुख का अत्यंत मनोयोग से चित्रण किया है। उनके द्वारा लिखे गए देखा चित्रों में समाज के दलित वर्ग या निम्न वर्ग के लोगों के बड़े मार्मिक चित्र मिलते हैं।

इनमें उन्होंने समाज द्वारा उपेक्षित कहे जाने वाले उन लोगों का चित्रण किया है जिनमें उच्च वर्ग के लोगों की अपेक्षा अधिक मानवीय गुणों और शक्ति है।अत यह स्पष्ट है कि उनका गद्य साहित्य समाज पर है। 

उनके गद्य साहित्य में राजनीतिक संस्कृति का समस्याओं और परिस्थितियों का भी यथार्थ चित्रण हुआ है। नारी समस्याओं को भी उन्होंने अपनी कई रचनाओं के माध्यम से उठाया है।  वह काव्य की भांति की भी मांग रही है उनके गद्य साहित्य में उनका कवित्री रूप भी लक्षित होता है।

महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय की भाषा शैली

महादेवी जी के गद्द की भाषा शैली अत्यंत सहज एवं परवाहपुरण है उनकी गद्द भाषा में तत्सम शब्दों की प्रचुरता है।महादेवी की गद्य शैली वैसे तो उनकी कार्यशैली के ही समान संस्कृतगर्भित, भाव प्रवण, मधुर और सरस है। परंतु उसमें अस्पष्टता और दुरूहता नहीं है इसे  व्यावहारिक शैली माना जाता है। 

कहीं-कहीं विदेशी शब्दों का भी प्रयोग हुआ है परंतु बहुत ही कम है। उनकी रचनाओं की भाषा शैली की सबसे बड़ी विशेषता उसकी मर्मस्पर्शिता है। वह भावुक होकर पात्रों के दिन हीन दशा, उनके मानसिक तथा वातावरण का बड़ा मार्मिक चित्रण करती है।

उनका काव्य व्यंग्य और हास्य से शून्य हैं। परंतु वे अपनी गद्य रचनाओं में समाज, धर्म,व्यक्ति और विशेष रूप से पुरुष जाति बड़े गहरे व्यंग्य कसती है। बीच-बीच में हास्य के प्रति चलती है। इन विशेषताओं ने उनके को बहुत आकर्षक और प्रभावशाली बना दिया है।

वे प्राय व्यंजना शक्ति से काम लेती हैं वह अपनी इस गद्य शैली द्वारा हमारे हदय पर गहरा प्रभाव डालती है संक्षेप में उनकी गद्य शैली में कल्पना,भावुकता, सजीवता और भाषा चमत्कार आदि के एक साथ दर्शन होते हैं उसमें सुकुमारता,  तरलता और साथ ही हदय को उदेवलित कर देने की अद्भुत शक्ति भी है।

ये भी पढ़े


  1. Umashankar Joshi Biography In Hindi – उमाशंकर जोशी का जीवन परिचय
  2. Razia Sajjad Zaheer Biography in Hindi – रजिया सज्जाद जहीर का जीवन परिचय 
  3. Rahul Sankrityayan Biography in hindi – राहुल सांकृत्यायन का जीवन परिचय
  4. Alok Dhanwa Biography in hindi – अलोक धन्वा का जीवन परिचय
  5. Jabir Hussain Biography In Hindi – जाबिर हुसैन का जीवन परिचय
  6. Suryakant Tripathi Nirala In Hindi | सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
  7. Shamsher Bahadur Singh Biography In Hindi | शमशेर बहादुर सिंह का जीवन परिचय
  8. Shyamacharan Dubey – Shyama Charan Dubey Biography in Hindi
  9. B R Ambedkar Short Biography – डॉ. अंबेडकर जीवन परिचय
  10. krishna Sobti in Hindi – Krishna Sobti Biography in Hindi
  11. Premchand Ka Jivan Parichay – मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय
  12. Hazari Prasad Dwivedi – हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय
  13. Phanishwar Nath Renu – फणीश्वर नाथ रेणु जीवन परिचय
  14. Rabindranath Tagore in hindi रबिन्द्रनाथ टैगोर का जीवन परिचय
  15. Harivansh Rai Bachchan हरिवंश राय बच्चन जी का जीवन परिचय
  16. Rahim Das Biography in hindi रहीम दास जी का जीवन परिचय
  17. Tulsidas Biography In Hindi गोस्वामी तुलसीदास का जीवन परिचय
  18. महान बिल गेट्स की जीवनी Bill Gats Biography In Hindi
  19. Mahatma gandhi biography in hindi महात्मा गाँधी की जीवनी
  20. Firaq Gorakhpuri Biography In Hindi – फिराक गोरखपुरी
  21. Dharmveer Bharti Biography In Hindi – धर्मवीर भारती का जीवन परिचय
  22. Gajanan Madhav Muktibodh Biography In Hindi – गजानन माधव मुक्तिबोध
  23. Raghuvir Sahay Biography In Hindi – रघुवीर सहाय का जीवन परिचय

दोस्तों आपको Mahadevi Verma Biography In Hindi – महादेवी वर्मा का साहित्यिक परिचय ये पोस्ट कैसी लगी। हमें comment करके अपने विचार दे। हमें बहुत ख़ुशी होगी। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें। आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है।

हमारी id:radarhindi.net@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे। हमें facebook page पर फॉलो कर ले और Right Side में जो Bell Show हो रही है उसे Subscribe कर लेताकि आप को समय समय पर Update मिलता रहे।

Thanks For Reading

 

Leave a Comment