Republic day Speech in Hindi | Speech on republic day

Republic day Speech in Hindi | Speech on republic day 26 जनवरी गणतंत्र दिवस 2022 पर ज़ोरदार भाषण। 73 वां गणतंत्र दिवस 2022 में 26 January को बुधबार के दिन मनाया जाएगा। जैसा कि हम सभी जानते हैं अनेक वीरों और वीरंगियो की कुर्बानी और अथक संघर्ष के बाद हमें आज़ादी मिली।

और वह शुभ दिन 15 अगस्त 1947 को था जिस दिन पूर्व से सूर्य उदित हुआ और भारत के लिए एक नई सुबह लेकर आया। लेकिन अभी हमारी शान सुनहरी नहीं थी कई चुनौतियाँ थी और उनसे निपटना था। हमारा भारत स्वतंत्र तो हो गया परंतु स्वचालित होने के लिए हमारे पास ना कोई नियम कानून था और ना ही कोई व्यवस्था थी।

आज़ादी मिलते ही देश को चलाने के लिए संविधान बनाने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया। 29 अगस्त 1947 को भारतीय संविधान के निर्माण के लिए प्रारूप समिति की स्थापना कर दी गई। और अध्यक्ष के रूप में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को ज़िम्मेदारी सौंपी गई। बाबासाहेब अंबेडकर और विभिन्न महापुरुषों द्वारा दिन रात एक कर के भारत के लिए लिखित संविधान तैयार किया गया।

संविधान लेखन की प्रक्रिया में पूरे 2 साल 11 महीने 18 दिन का समय लगा। हमारे इस संविधान में दुनिया के विभिन्न आदर्शों को संजोया गया। संपूर्ण जन-मानस का कल्याण उनकी उन्नति तथा भारत वर्ष के संपन्नता की नींव रखी गई।

और उन्होंने 26 नंबर 1949 को सँविधान सभा के समक्ष भारतीय संविधान का मसौदा रखा और उसी दिन सँविधान सभा ने इसे अपना लिया। अंतत 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ। इसी दिन हम स्वचालित हुए गणतंत्र हुए और हमारी शामें सुन हरी हुई।

Republic day Speech in Hindi
Republic day Speech in Hindi

Republic day speech in Hindi – 26 जनवरी भाषण 

इस प्रकार हमारे पूर्वजों के संघर्ष उनकी मेहनत व हमारे संविधान की सुसज्जिता और प्रत्यक्षता ने हमें व हमारे भारत को विश्व का सबसे बड़ा गणतंत्र व लोकतंत्र होने का गौरव प्रदान किया। साथियों यह स्वऱणिम दिवस हर वर्ष आकर हम देशभक्तों को देश प्रेम की भावना से सराबोर कराती है,

हमें हमारे पूर्वजों और उनके संघर्षों को याद दिलाती है। व हमें अपने कर्तव्यों को याद दिलाती है और में प्रेरणा देती है। कि हम यूं ही विविधता में एकता और अखंडता बनाए रखें। जिसके लिए दुनिया भारत को सलाम करती है।

हम जाति धर्म और समुदाय से ऊपर उठकर भारतीयता का पहचान दें और हम हमारे भारत को सफलता की बुलंदियों की उड़ान दें। प्रत्येक व्यक्ति को अपनी मातृभूमि बहुत ही प्यारी होती है क्योंकि उस भूमि पर उसका जन्म हुआ होता है मां की गोद की तरह ही वह उस भूमि पर खेल कर बड़ा होता है।

लेकिन अपनी मातृभूमि पर स्वतंत्र होकर जीने का हक हमें जिन्होंने दिया वो लोग आज इस दुनिया में नहीं है। आज के इस अवसर पर हम उन सपूतों को नमन करते हैं।

जिन्होंने अपना जीवन अपने लिए जिया और ना ही अपने परिवार के लिए बल्कि अपने जीवन का दान अपनी मातृभूमि के लिए कर दिया और भारत देश को आज़ाद करा कर ही दम लिया।

Republic day Speech in Hindi | Speech on republic day

26 जनवरी पर भाषण 2022 हमारे देश का अपना संविधान लागू हुए 70 वर्ष हो चुके हैं इन 70 वर्षों में हमारे देश में दुनिया में अपनी पहचान बनाई है। आज भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था बन रहा है।

अब दुनिया भारत देश को सम्मान की नजर से देखती है हमारे देश ने पिछले कुछ वर्षों में दुनिया में अपना धाक जमाया है।

speech on republic day 2019 – 26 जनवरी को भाषण कैसे दिया जाता है?

अमेरिका जैसे देश जो हमारे देश को इतना सम्मान नहीं देते थे।
आज भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहते हैं।

आज हमारा देश टेक्नोलॉजी और स्पेस साइंस की दुनिया में शीर्ष 5 देशों में शामिल हो चुका है।
दुनिया की बड़ी से बड़ी टेक्नोलॉजी की कंपनियां भारतीयों के दिमाग से चलती हैं।

स्पेस साइंस की दुनिया में भारत की प्रगति और कार्य देखकर दुनिया के सभी देश हो स्तब्ध चुके हैं।
अब हमारे पड़ोसी पाकिस्तान और चीन भी भारत की बढ़ती ताकत से हिल गए हैं।

इनमें हमारे देश से सीधी टक्कर लेने की हिम्मत नहीं है क्योंकि भारतीय सैनिकों ने इसकी सीमा में घुस कर इनको करारा जवाब दिया है।
धारा 370 और 35A को हटाकर तो भारत सरकार ने तो आंतकियो के हाथ पैर ही काट दिए।

अब जम्मू और कश्मीर हमारे देश का अभिन्न अंग बन चुका है लेकिन आज भी हमारे देश के अंदर छुपे हुए आंतकी
और बलात्कारियों को सुधारने के लिए देश के संविधान में बदलाव की जरूरत है ताकि फिर से कोई उन्नाव की बेटी

और हैदराबाद की डॉक्टर बेटी को शर्मसार करने और जीने का हक ना छीन पाए।

कानून ऐसा बने की जनता का खून ठंडा होने से पहले इनको सजा मिल जाए। यही हमारे देश के संविधान का सबसे बड़ा सम्मान होगा।

 Short speech on republic day – गणतंत्र दिवस का क्या महत्व है?

  1. यह दिन गणतंत्र दिवस समारोह के समापन के रूप में मनाया जाता है
  2. भारत ने अपना पहला गणतंत्र दिवस “साल 1950” में मनाया था।
  3. पूर्ण स्वराज दिवस को ध्यान में रखते हुए भारतीय संविधान “26 जनवरी” को लागू किया गया था
  4. 26 जनवरी 1950 को 10:18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया।
  5. गणतंत्र दिवस की पहली परेड 1955 को दिल्ली के राज्य पथ पर हुई थी
  6. भारतीय संविधान की हाथ से लिखी मूल प्रतियां ससंद भवन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई है।
  7. भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाउस में 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी।
  8. गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति तिरंगा फहराते हैं और हर साल 21 तोपों की सलामी दी जाती है।
  9. 29 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट सेरेमनी का आयोजन किया जाता है।
    जिसमें भारतीय सेना, वायु सेना और नौसेना के बैंड हिस्सा लेते हैं।
  10. गणतंत्र दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री अमर ज्योति पर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं।
    जिन्होंने देश के आज़ादी में बलिदान दिया।

Republic day Speech in Hindi | Speech on republic day | 26 जनवरी पर शायरी

1. सागर जिसके पांव पखारे, हिमालय जिसका सरताज है गूँज रहा दुनिया में डंका, भारत का खुशियों का दिन आज है।

2. शोले भी सर्द होंगे हौसलों में फिर से उड़ान होगी दुनिया सलामी देगी, कदमों में आसमान होगा। वो दिन दूर नहीं मेरे देशवासियों जब फिर से विश्व गुरु हमारा हिंदुस्तान होगा।

3. यही रखूंगा, कहीं उम्र भर न जाऊँगा ज़मीन मां है, इसे छोड़कर ना जाऊँगा।

4. धारा 370, अब तो तेरी खैर नहीं, अब कोई कश्मीरी भाई हम सब के लिए गैर नहीं होगा। विकास अब हिंद के हृदय का चमकेगा अब विश्व पटल पर, इसमें कोई बैर नहीं।

5. अब फहरेगा तिरंगा झंडा, भारत में केवल एक कश्मीर से कन्याकुमारी तक, भारत हुआ एक।

6. टकरा पाएं हमसे कोई, किसमें इतना दम है हिंदुस्तानी मां का बेटा, जग में किस से कम है।

7. कान खोल कर सुन ले दुश्मन, चेहरे का खोल बदल कर रख देंगे। जो बीता हुआ इतिहास अब की भूगोल बदल कर रख देंगे।

8. युद्ध अगर इस बार हुआ तो युद्ध विराम नहीं होगा। कश्मीर जहां है वही रहेगा पर पाकिस्तान नहीं होगा।

9. दर्द कहां तक पाला जाए , युद्ध कहां तक टाला जाए तू भी है राणा का वंशज फेंक जहां तक भाला जाए।

10. कश्मीर से कन्याकुमारी तक फैला भू-भाग हमारा है सागर जिसके पांव पखारे हिमालय जिसका रख वाला है। विभिन्नओ में भी अखंड है भारत यह गणतंत्र हमारा है।

26 जनवरी पर शायरी

11. खोया है हमने कई अपनों को तब जाकर ये अवसर पाया है तीन रंगों का यह अपना तिरंगा निल गगन में लहराया है। यूं ही नहीं मिली है ये हमको झेले है। हमने कई सदियां तब जाकर यह गणतंत्र आई है।

12. गुलशन इस गुलसिता का यूं ही सज़ाएँ रखना, जसन ये आज़ादी यूं ही बनाए रखना। फिर कभी लौट कर ना आने पाए वो गुजरा हुआ पल, मेरे देश प्रेमियों आपस में प्रेम बनाए रखना।

13. ना कतरा भर भी ख़ौफ़ था ना जीने की ललक, हंस कर दे दी जान ना मरने से कभी घबराए थे, धन्य थे वो अमर बलिदानी शत-शत नमन है उन्हें जो हमारे लिए ये शुभ दिन लेकर आए थे।

14. लड़ लेना पूरी दुनिया से अपनों में बनाए प्यार रखना, फ़ौलादी ज़िगर है और रोबदार चेहरा हौंसलो का हथियार रखना,यूँ ही बरकरार रखनी है। ऐ मेरे प्यारे देशवासियों इसलिए बस हर घर में हमीद – चंद्रशेखर और भगत सिंह जैसे पुत्र तैयार रखना।

15. नील गगन में यूं ही फहराता रहेगा अपना तिरंगा, फिर इसे झुकने ना देंगे, बढ़ जाए कदम पर कारवाँ की ओर तो फिर इसे रुकने ना देंगे। यूँ ही चलता रहेगा। सिलसिला ध्वजा तोलन का ऐ मेरे देशवासियों अपना यह गणतंत्र हम कभी टूटने ना देंगे।

Republic day Speech in Hindi | Speech on republic day in Hindi | 26 जनवरी पर शायरी

16. यहां सिक्ख है ईसाई है हिंदू और मुसलमान है, अलग-अलग वेषभूषा अलग-अलग पहचान है, अलग-अलग धर्म – जाति फिर भी सब एक समान है, इसलिए तो दुनिया का सबसे बड़ा गणतंत्र अखंड हिंदुस्तान है।

17. हम महफूज रहे त्योहारों में वे सर-हद पर गोली झेलते हैं जरा उन्हें भी याद कर लो जो खून से होली खेलते हैं।

18. हर वक्त मेरी आंखों में धरती का स्वप्न हो जब कभी मरु तो तिरंगा मेरा कफन हो और कोई ख़्वाहिश नहीं है। जिंदगी में जब कभी भी जन्मु तो भारत मेरा वतन हो।

19. चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद कर ले। जिसमें बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे देश भक्तों के खून की वोधारा याद कर ले।

20. चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में है इंकलाब की ज्वालाए लिपटी मेरे बदन में है। मोत जहां जन्नत हो ये बात मेरे वतन में है। कुर्बानी का जज्बा जिंदा मेरे कफन में है।

21. यही ख्वाइश ख़ुदा हर जन्म हिंदुस्तान वतन देना अगर देना तो दिल में देश भक्ति का चलन देना। ना दे दौलत ना देश शोहरत कोई शिकवा नहीं हमको। झुका दूँ सर मैं दुश्मन का यही हिम्मत का धन देना।

Republic day Speech in Hindi | गणतंत्र दिवस से हमें क्या संदेश मिलता है? | 26 जनवरी पर शायरी

22. तीन रंग का नहीं वस्त्र ये ध्वज देश की शान है हर भारतीय के दिलों का स्वाभिमान है। यही है गंगा, यही है हिमालय, यही हिंद की जान है और तीन रंगों में रंगा हुआ ये अपना हिंदुस्तान है।.

23. देशभक्तों से ही देश की शान है देशभक्तों से ही देश का मान है। हम उस देश के फूल है यारो जिस देश का नाम हिंदुस्तान है।

24. ग़ुलाम बने इस देश को आज़ाद तुमने कराया है सुरक्षित जीवन देकर तुमने कर्ज अपना चुकाया है। दिल से तुम को नमन करते हैं ये आज़ाद आज़ाद वतन जो दिलाया है।

25. संस्कार और संस्कृति की शान मिले ऐसे हिंदू मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले। ऐसे हम मिलजुल कर रहे, ऐसे की मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में राम मिले। जैसे ना मस्जिद को जानते हैं न शिवालों को जानते हैं। जो भूखे पेट होते हैं वह सिर्फ निवालों को जानते हैं मेरा यही अंदाज़ जमाने को खलता है कि मेरा चिराग हवा के खिलाफ क्यों जलता है।

26. मेरी नज़रों को ऐसी खुदाई दे जिधर भी देखूं मेरा वतन दिखाई दे। हवा की हो कुछ ऐसी मेहरबानियां बोलूं जो जय हिंद तो सारी दुनिया को सुनाई दे।

27. जिसने शाहजहाँ और औरंगज़ेब को उनकी नानी याद दिलाई थी वह मराठा वीर शिवाजी थे जिसने मुग़लों के चूलें हिलाई थी। उस भगवा ध्वज वाहक में ग़जब की रवानी थी जिसने हर हिंदुस्तानी के दिल में फिर, देश भक्ति की आग जलाई थी।



26 जनवरी को भाषण कैसे दिया जाता है? | भाषण से पहले क्या बोले? | भाषण की सुरुवात कैसे करे?

Republic day speech in Hindi भाषण की सुरुवात कैसे करे? माननीय मुख्य अतिथि उपस्थित समस्त सम्माननीय सज्जनों को प्रणाम करता हूं। आज 26 जनवरी गणतंत्र दिवस को, ये भाषण मैं इसलिए दे रहा हूं। ताकि आप तक ये बात पहुंचा सकूँ कि, ये जो हम चैन की सांस ले रहे हैं। आज़ादी से जी रहे हैं, यह सब मुफ्त में नहीं मिला।

इसके पीछे लाखों बलिदान और कई लड़ाइयां लड़ी गई है यह दिन हर साल हम मनाते हैं मगर क्यों मनाते हैं। 15 अगस्त 1947 को जब भारत आज़ाद हुआ तब भारत स्वशासित देश नहीं था। 26 जनवरी को भारत स्वशासित देश घोषित किया गया, तभी भारत का संविधान लागू हुआ।

इसलिए हम 26 जनवरी का यह पर्व बनाते हैं। लेकिन आज अगर हम उन वीरों को याद ना करें। जिनकी बदौलत हमें आज़ादी हासिल हुई है, तो यह पर्व सुना – सुना लगेगा। क्योंकि जिन जाबांजो ने प्राण दिए।
अपनी वीरता के परचम लहराए, वो डटे मगर झुके नहीं उनको सलाम करते हैं।

और आज भी सीमा पर घुसपैठियों को रोकने के लिए आतंकवाद से लड़ने के लिए हमारे जवान सीमा पर डटे हुए हैं। यह आज़ादी वीरों का बलिदान है ये राणा का अभिमान है।

शिवा का सम्मान है यह भगत और बॉस की शान है वो वीर थे रणवीर थे फतेह मैदान वो करते थे। अबलाओं के लिए निछावर अपनी जान करते थे।

खाक नहीं होने देंगे हम, उन वीरों की कुर्बानी को जौहर की अग्नि से खेली, वीरांगना बलिदानी को। बचपन में फाँसी लटके उस मासूम जवानी को भूल नहीं सकता,

मैं अंगारों की बलिवेदी को जान मेरी भी अर्पित है भारत की रख वाली को। ऐसे महान क्रांतिकारियों और बलिदानों की वजह से ये स्वतंत्रता पाई है, यह गणतंत्र दिवस मनाते हैं आइए हम उन सभी का आदर से सम्मान करें, और मां भारती की जय जयकार करें।

 Speech on republic day 2019 | 26 जनवरी पर शायरी

  1. आज का ये अवसर बड़ा निराला है आज यहां पर नूर बरसने वाला है।एक बार ज़ोरदार तालियां बजा दे कार्यक्रम अब शुरू होने वाला है।
  2. वो आ गए जिनका इंतजार था आओ हम ख़ुशियों के दीप जला ले।आज के मुख्य अतिथि के स्वागत में सब लोग ज़ोरदार तालियां बजा दे।
  3. गम काफ़ूर हो जाएंगे, खुश हालिया आएँगी अगर हर प्रस्तुति पर, ज़ोरदार तालियां आएँगी।
  4. थोड़ा सा प्यार, थोड़ी सी दुआएँ अता कीजिए। इन बच्चों के लिए ज़ोरदार तालियां बजा दीजिए।
  5. अपनी कदर दानी को, इस तरह ना छिपाइए अगर प्रस्तुति पसंद आई हो तो तालियां बजाइए।
  6. कोई पेशेवर कलाकार नहीं है फिर भी समर्पित कितने है। इनके लिए खूब तालियां बजाईये क्योंकि ये तो हमारे अपने हैं।
  7. इस जमाने में हजारों दर्द मंद है लेकिन खुशी बांटने वाले चंद है। तो बाँटिये खुशी तालियां बजाकर तालियां तो वैसे भी फ़ायदेमंद है।
  8. यह नन्हे फूल तब महकते हैं जब ख़ुदा की नीली छतरीया तनती है इन नन्हें मुन्ने फरिश्तों के लिए ज़ोरदार तालियां तो बनती है।

Read Also 


  1. Premchand Ka Jivan Parichay – मुंशी प्रेमचंद का जीवन परिचय
  2. Depression hindi – Depression in hindi – डिप्रेशन को दूर करने के 18  बेहतरीन उपाय
  3. एक फलवाले का विश्वास और माँ की सेवा के प्रति सच्चा – maa ki mamta ki kahani
  4. Maa in hindi – Quotes on maa in hindi – माँ की ममता कहानी
  5. Maa Beti Ki Kahani Hindi Story – बेटी का माँ के प्रति प्यार
  6. Hazari Prasad Dwivedi – हजारी प्रसाद द्विवेदी का जीवन परिचय
  7. Kabir Das in hindi – संत कबीर दास जी के दोहे


दोस्तों आपको RepubliRepublic day Speech in Hindi | Speech on republic day ये पोस्ट कैसी लगी। नीचे Comment box में Comment करके अपने विचार हम से अवश्य साझा करें। हमें बहुत ख़ुशी होगी, इस Post को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें।

अगर आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है। हमारी Email id:radarhindi.net@gmail.com है। Right Side में जो Bell Show हो रही है।उसे Subscribe कर लें। ताकि आपको समय-समय पर Update मिलता रहे।

Thanks For Reading

Leave a Comment