Sacha Mitra Story In Hindi सच्चे मित्र की कहानी

Sacha Mitra in hindi paragraph , सच्चे मित्र की कहानी एक बार एक तलाब के पास दो हंस और एक कछुआ रहते थे। Sacha Mitra Story In Hindi कछुआ और दोनों हँस आपस में बहुत अच्छे मित्र थे। उन तीनों को उस तलाब से पेट भर खाने को मिलता था sacha mitra तीनों बहुत आनंद से अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे। ग्रीष्म ऋतु आने पर जब तालाब सूख गया तो तीनों मित्रों को भोजन और पानी की कमी होने लगी।

Sacha Mitra Story In Hindi

Sacha Mitra Story In Hindi – सच्चे मित्र की कहानी

तब दोनों हंसों ने कछुए से कहा – तुम इतने दुखी क्यों हो गए? कछुआ यह जानता था की वह दोनों हंसों की तरह उड़ नहीं सकता। फिर उसे यह भी पता था की वह बहुत धीमी चाल से चलता है इस कारण उसने दुखी होकर अपने दोनों हंस मित्रों से कहा-

मैं तुम्हारे साथ बहुत दूर तक कैसे चलूंगा ? मैं उड़ भी नहीं सकता। तुम दोनों जब उड़ कर चले जाओगे तो मुझे बहुत याद आया करोगे। कछुए की बात सुनकर दोनों हंस एक पेड़ की शाखा लाए और कछुए से कहा-

तुम्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं हम दोनों तुमको अपने साथ ले जाएंगे अब तुम इस छड़ी को बीच से अपने मुंह से पकड़ लो। पर यह ध्यान रखना कि तुम्हें कुछ बोलना नहीं है क्योंकि जैसे ही तुम खोलोगे। वैसे ही नीचे गिर पड़ोगे और मर जाओगे। अब तीनों मित्र अपनी इस विधि के अनुसार आकाश में उड़ते हुए चल पड़े।
दोनों हंस बड़ी ही समझदारी से अपनी अपनी चोंचों में एक – एक छोर पकड़े हुए थे।
और बीच में कुछ हुआ था  कुछ देर बाद कछुए के कानों में कुछ लोगों के चिल्लाने की आवाज आई। देखो देखो आकाश में कछुआ और दो हंस उड़ रहे हैं।

Sacha Mitra essay in hindi – सच्चे मित्र की कहानी

कछुए ने सोचा यह लोग मेरी हंसी उड़ा रहे हैं। मुझे इनको ठीक करना है। जैसे ही उसने कुछ कहने के लिए अपना मुंह खोला। वैसे ही वह नीचे जमीन पर गिर पड़ा और मर गया। दोनों हंसों को अपने मित्र कछुए की गलती पर बहुत दुख हुआ पर अब वे दोनों कुछ नहीं कर सकते थे।
अतः वे दोनों दूर कहीं दूसरे तलाब पर जाकर रहने लगे।

कछुए की सबसे बड़ी गलती यह हुई कि उसने अपने सच्चे मित्रों की बात पर ध्यान न देकर उन लोगों की हंसी मजाक पर ध्यान दिया जो उसका कुछ भी भला नहीं कर रहे थे उसका परिणाम यह हुआ।

कि उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ा हमें अपने जीवन में यह सीखना है। कि चाहे कोई हमारी हंसी उड़ाए या उसे मुकाबला करें हमें अपनी समझ का सहारा लेते हुए केवल अपना भला चाहने वालों की बात अवश्य सुननी चाहिए।

कछुए के दोनों हंस मित्रों ने तालाब सूखने पर कछुए को वहाँ अकेला नहीँ छोड़ा। संकट में भी उसका साथ दिया, पर कुछए ने अपने अच्छे सच्चे मित्रों की बात पर ध्यान नहीं दिया। वास्तव में सुनना यदि चांदी है, तो चुप रहना सोना है।

एक वन में एक तालाब था। तालाब में एक बड़ा सा कछुआ रहता था। तालाब के किनारे एक वृक्ष था, जिस पर एक कौआ रहता था। पास ही झाड़ियों में एक हिरण भी रहता था। तीनों में मित्रता हो गई।

सुबह शाम तीनों मिलते,एक दूसरे का हालचाल पूछते और हंसी – मज़ाक करके अपना समय गुज़ारते। एक दिन एक मछुआरा उस तालाब पर आया। उसने तालाब में जाल डालकर कछुए को पकड़ लिया।

मछुआरे ने कछुए को रस्सी से बाँधकर एक लाठी पर दांग टाँगा और चल दिया। अपने मित्र को संकट में देख कौआ और हिरण चिंता में पड़ गए। उन्हें पता था

कि मछुआरा उनके मित्र को मारकर खा जाएगा। वे कछुए को बचाने का कोई उपाय सोचने लगे। काफी सोच-विचार के बाद उन्हें एक उपाय सूझ गया उसके बाद हिरण उस रास्ते पर जाकर लेट गया,

जहां से मछुआरा कछुए को लेकर गुजरने वाला था। कौआ भी वही पास के एक पेड़ पर जा बैठा। हिरण एकदम मुर्दा बंद कर लेटा हुआ था जब मछुआरे ने रास्ते में एक मोटा तगड़ा हिरण मरा पड़ा देखा।

 sacha mitra in hindi – सच्चा मित्र वही है जो समय पर काम आता है 

तो उसे लालच आ गया। उसने सोचा कछुआ तो है, ‘ही क्यों न’ इस हिरण को भी उठा कर ले चलूँ? इसकी चमड़ी बेचने से काफी धन मिलेगा। मछुआरे के पास एक ही रसी थी, जिससे उसने कछुए को बांधा हुआ था

उसने कछुए को खोलकर एक तरफ छोड़ दिया। मुक्त होते ही कछुआ चुपचाप खेतों में घुस गया। और तालाब की ओर चल दिया। मछुआरा लाठी लेकर कछुए वाली रस्सी से हिरण को बांधने के लिए उसकी तरफ बढ़ा।

जैसे ही वह हिरण के पास पहुंचा पेड़ की डाली पर बैठा कौआ बोल उठा, “काँव! काँव!” अपने मित्र कौए की आवाज़ सुनते ही हिरण उछल कर भाग खड़ा हुआ। मछुआरा बेचारा देखता रह गया।

इस तरह उसे न तो कछुआ मिला न हिरण।शाम ढलने पर तीनों मित्र तालाब के किनारे मिले। कछुए ने अपने प्राण बचाने के लिए कौए और हिरण को धन्यवाद देना चाहा

तो वे बोले’ “धन्यवाद की कोई आवश्यकता नहीँ, मित्र!
सुख – दुख में काम आने वाले ही तो सच्चे मित्र होते हैं।

ये भी पढ़े 

  1. Samay Ka Mahatva समय का महत्व एक अद्भुत स्टोरी
  2. बेस्ट 50 सुविचार और मोटिवेशनल वचन Inspirational quotes in hindi
  3. कबीर दास जी के 32 दोहे Kabir Das Ke Dohe with Meaning
  4. Aaj Ka Suvichar in Hindi With Image आज का विचार जो बदल दे आपकी लाइफ
  5. Kabir Ke Dohe कबीर दास जी के life चेंजिंग दोहे
  6. 100 Motivational Quotes In Hindi Best Motivational Thoughts
  7. Self Confidence in Hindi आत्मविश्वास बढ़ाने के टोटके

दोस्तों आपको Sacha Mitra Story in hindi – सच्चे मित्र की कहानी  ये पोस्ट कैसी लगी। नीचे Comment box में Comment करके अपने विचार हमसे अवश्य साझा करें। और आपका 1 कमेंट हमें लिखने को  प्रोत्साहित करता और हमारा जोश बढ़ाता है  हमें बहुत ख़ुशी होगी। इस Post को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें। जैसे की Facebook, Twitter, linkedin और Pinterest इत्यादि। 

Leave a Comment