Types of marriage in sociology – जानिए विवाह के 8 प्रकार

Types of marriage in sociology In Hindi – जानिए विवाह के 8 प्रकार इसके बारे में हम आज चर्चा करंगे। वैदिक कॉल के दौरान 8 प्रकार के विवहा थे। उसमे गंधर्व विवहा को प्रेम विवहा कहते थे। 

Types of marriage in sociology

Types of marriage in sociology

1. ब्रह्म विवाह :-  दोनो पक्ष की सहमति से समान वर्ग के सुयोज्ञ वर से कन्या का विवाह  निश्चित कर देना ‘ब्रह्म विवाह’ कहलाता है। सामान्यतः इस विवाह के बाद कन्या को  आभूषणयुक्त करके विदा किया जाता है।

2. दैव विवाह :- इस प्रकार के विवाह को कम माना जाता है क्योंकि यह स्त्रीत्व के लिए
अपमानजनक है। इसमें महिला का परिवार उसके विवाह के लिए एक विशिष्ट समय की प्रतीक्षा करता है। यदि उसे उपयुक्त दूल्हा नहीं मिलता है, तो उनका उन जगहों पर विवाह किया जाएगा जहां परिवार पुजारी के माध्यम से मिलकर दूल्हा चुनता है जो विधिवत तरीके से धार्मिक समारोह में उचित रूप से कार्य करता है।

3. आर्श विवाह :- कन्या-पक्ष वालों को कन्या का मूल्य दे कर (सामान्यतः गौदान करके) कन्या से विवाह कर लेना ‘आर्श विवाह’ कहलाता है।

4. प्रजापत्य विवाह :-  प्रजापत्य तब होती है जब एक लड़की का पिता सम्मान के साथ उसकी शादी दूल्हे से करता है और उन्हें संबोधित करता है: ‘आप दोनों अपने कर्तव्यों को एक साथ निभाएं।

5. गंधर्व विवाह :-  एक अविवाहित लड़की और उसके प्रेमी के स्वैच्छिक संघ को गंधर्व विवाह कहा जाता है। जब ‘प्यार’ विवाह की बात आती है, तो उसके गंधर्व विवाह कहते हैं। परिवार वालों की सहमति के बिना वर और कन्या का बिना किसी रीति-रिवाज के आपस में विवाह कर लेना ‘गंधर्व विवाह’ कहलाता है।

6. असुर विवाह :- कन्या को खरीद कर (आर्थिक रूप से) विवाह कर लेना ‘असुर विवाह’ कहलाता है। यह असुर विवाह है जो खुद को अन्य प्रकार के विवाह से अलग करता है। यह एक विवाह है जहां दूल्हे अक्सर दुल्हन के साथ संगत नहीं हो सकता है और यहां तक कि कुछ असामान्यता भी हो सकती है लेकिन दूल्हे के पिता के सम्बन्ध में लालच या मजबूरी भी दूल्हे की इच्छा और धन को वापस लौटा सकती है। 

7. राक्षस विवाह :-  कन्या की सहमति के बिना उसका अपहरण करके जबरदस्ती विवाह कर लेना ‘राक्षस विवाह’ कहलाता है।

8. पैशाच विवाह :-  कन्या की मदहोशी (गहन निद्रा, मानसिक दुर्बलता आदि) का लाभ उठा
कर उससे शारीरिक सम्बंध बना लेना और उससे विवाह करना ‘पैशाच विवाह’ कहलाता है।

READ ALSO

 

  1. Rummy Kaise Khelte Hain रम्मी गेम कैसे खेलेंते है? जानिए 3 महत्वपूर्ण चरण
  2. Moral Stories In Hindi – top 10 moral stories in hindi मोरल स्टोरीज़ चैंजिंग LIFE
  3. Chitrakar Ki Kahani – Chitrakar Ki Story चित्रकार की कहानी सफ़लता मिली जिद्द से
  4. Sensitive Meaning In Hindi – सेंसिटिव लोगों का जीवन बदल सकती है यह बातें
  5. Imandar Lakadhara Story in hindi – ईमानदार लकड़हारे की कहानी
  6. Teacher Student Moral story टीचर और स्टूडेंट की एक प्रेरणादायक कहानी
  7. Ghar baithe paise kaise kamaye गांव में पैसे कमाने के तरीके

दोस्तों आपको Types of marriage in sociology – जानिए विवाह के 8 प्रकार ये पोस्ट कैसी लगी। हमें comment करके अपने विचार दे। हमें बहुत ख़ुशी होगी। और आपका 1 कमेंट हमें लिखने को  प्रोत्साहित करता और हमारा जोश बढ़ाता है।  इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Share ज़रूर करें। जैसे की Facebook, Twitter, linkdin और Pinterest इत्यादि। 

आपके पास कोई लेख है तो आप हमें Send कर सकते है। हमारी id: RADARHINDI.NET@gmail.com.

Thanks For Reading

Leave a Comment